Category Archives: Bhaktmaal

Jugal Naam So Nem Japata Nit Kunjbihari जुगल नाम सौं नैम जपत नित कुंज बिहारी

स्वामी श्री नाभाजी कृत पद :
रसिक चक्रचूडामणि मुख्य सखी श्री ललिता जी के अवतार अनन्य नृपति श्री स्वामी हरिदास जी महाराज के संदर्ब मैं ये पद
जुगल नाम सौं नैम जपत नित कुंज बिहारी॥
अविंलोकित रहैं केलि सखी सुख को अधिकारी॥
गान कला गंधर्व श्याम श्यामा को तोषें॥
उत्तम भोग लगाय मोर मरकट तिमि पोषें॥
नृपति द्वार ठाड़े रहें दरशन आशा जासकी॥
आशधीर उद्योत कर रसिक छाप हरिदास की॥

प्रथम वर्षीय महोत्सव

We are celebrating 1st year anniversary of renovated Shri Radha Vinod Bihari Ji Temple. All glory of Shri Radha Vinod Bihari Ji a whole year went with full of devotions, events, kirtan, satsang and bhakti. Now its time to celebrate again in grace of Shri Ji and Thakur Ji with visits of many saints in...
Read more