Recent Posts by Vinod Priyadas

Jugal Naam So Nem Japata Nit Kunjbihari जुगल नाम सौं नैम जपत नित कुंज बिहारी

स्वामी श्री नाभाजी कृत पद :
रसिक चक्रचूडामणि मुख्य सखी श्री ललिता जी के अवतार अनन्य नृपति श्री स्वामी हरिदास जी महाराज के संदर्ब मैं ये पद
जुगल नाम सौं नैम जपत नित कुंज बिहारी॥
अविंलोकित रहैं केलि सखी सुख को अधिकारी॥
गान कला गंधर्व श्याम श्यामा को तोषें॥
उत्तम भोग लगाय मोर मरकट तिमि पोषें॥
नृपति द्वार ठाड़े रहें दरशन आशा जासकी॥
आशधीर उद्योत कर रसिक छाप हरिदास की॥

Swami Shriharidas Sampradya

स्वामी श्री हरिदास शिष्य परम्परा के आचार्य एवम महंत के नाम इस प्रकार है और संछिप्त जीवन परिचय के लिए नाम पर क्लिक करें :

 

जानकारी " श्री टटिया धाम " पुस्तक से ली गयी है , यह पुस्तक श्री सहदेव चतुर्वेदी जी द्वार लिखी गयी है , प्रकाशक  श्री महेन्द्रनाथ जी गोयल हैं.

वर्तमान में महंत...

Read more

Recent Comments by Vinod Priyadas

    No comments by Vinod Priyadas yet.